Sat. Sep 25th, 2021

कलेक्टर साहेब का उतरा बुखार , मुख्यमंत्री ने किया इलाज

छत्तीसगढ़                               

 सूरजपुर जिले के डी.एम रणवीर शर्मा की भद्द पिट गई । कोरोना लॉक डाउन में सड़क पर निकले डीएम को राउडी बनने का शौक हुआ और उन्होंने एक युवक को रोककर पूछताछ करनी शुरू की । उसके जवाब से संतुष्ट न होकर उन्होंने युवक को एक थप्पड़ जड़ दिया । इतने पर भी उनकी सनक खत्म नहीं हुई तो कलक्टर साहेब ने युवक का फोन लेकर जमीन पर पटक दिया । सुरक्षाकर्मियों से पिटवाया।

जिस युवक के साथ कलेक्टर  रणवीर शर्मा ने यह अमानवीय हरकत की, उसने बकायदा रणवीर शर्मा को अपनी दवाई की पर्ची भी दिखाई और बताया कि वो दवा लाने मेडिकल स्टोर जा रहा था। लेकिन डीएम रणवीर शर्मा नहीं मानें और उन्होंने युवक को थप्पड़ जड़ दिया और कहा कि यह उनका वीडियो बना रहा है। इतना ही नहीं युवक का मोबाइल पटकने तथा सुरक्षाकर्मियों से पिटवाने के बाद उन्होंने युवक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के भी आदेश दे दिए।

इस पूरी घटना का वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो गया , बस कलक्टर साहब का बुखार उतर गया , वीडियो वायरल होने के बाद कलेक्टर, रणवीर शर्मा का एक वीडियो आया, जिसमें वो घटना को लेकर स्पष्टीकरण दे रहे हैं वीडियो मेंं वे कह रहे हैं – ‘  मेरा किसी को अपमानित करने का इरादा नहीं था। वह (युवक) टीकाकरण के लिए बाहर आया था लेकिन उसके पास कोई उचित दस्तावेज नहीं था। बाद में उसने कहा कि वह अपनी दादी से मिलने जा रहा है। जब उसने दुर्व्यवहार किया तो मैंने उसे आवेश में थप्पड़ मार दिया। वह 13 साल का नहीं बल्कि 23-24 साल का था। मुझे अपने व्यवहार के लिए खेद है और मैं माफी मांगता हूं।’ सोशल मीडिया पर डीएम को सस्पेंड करने की मांग  उठने लगी।

जब यह खबरछत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल तक पहुंची तो उन्होंने तत्काल रणवीर शर्मा को सूरजपुर कलेक्टर के पद से हटाकर मंत्रालय में संयुक्त सचिव के पद पर भेज दिया गया।भूपेश बघेल ने लड़के को टूटे मोबाइल के बदले में नया मोबाइल फोन देने के भी निर्देश दिए हैं। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट किया..

इस घटना के बाद जिस युवक के साथ डीएम ने अभद्रता की  थी उसके पिता ने बताया कि उनकी पत्नी तथा उन्हें कोरोना वैक्सीन का टीका लगा है जिसके कारण उन्होंने अपने बेटे को बाहर दवा लेने भेजा।  कलेक्टर ने जो उनके बेटे के साथ व्यवहार किया, वो बिल्कुल गलत हैं और इससे मुझे काफी पीड़ा हुई है।

IAS असोसिएशन ने भी ट्वीट करके कलेक्टर के इस व्यवहार पर खेद जताते हुए ट्वीट किया है कि IAS असोसिएशन सूरजपुर, छत्तीसगढ़ के कलेक्टर के व्यवहार की कड़ी आलोचना करता है. ये अस्वीकार्य है और सर्विस की, सभ्यता की मूलभूत समझ के ख़िलाफ है. सिविल सर्वेंट्स को सोसायटी के प्रति सहानुभूति रखनी चाहिए. ख़ासकर इस मुश्किल समय में.”

अभी पिछले महीने 26 अप्रैल को ही  त्रिपुरा में वेस्ट त्रिपुरा डिस्ट्रिक्ट के डीएम शैलेष कुमार यादव का एक शादी समारोह में घुसकर थप्पड़ चलाने और बदतमीजी का वीडियो वायरल हुआ था , इस मामले में भी इंक्वायरी बैठी थी और कार्रवाई हुई थी।




विनीता शर्मा

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *