Sat. May 21st, 2022

‘चालान मैन’ आनंद किशोर डूबे पटना को छोड़ खा रहे ‘सिडनी’ की हवा

जल में डूबे पटना के लोग चालान मैन आनंद किशोर को बेसब्री से खोज रहे है और पूछ रहे हैं -क्या वो सिर्फ गाड़ी पकड़ने और अतिक्रमण हटाने के लिए पटना  के  कमिश्नर  हैं ?


पटना में नए मोटर वाहन अधिनियम के अंतर्गत कड़ाई से चालान वसूलने वाले कड़क कमिश्नर आनंद किशोर को अतिवृष्टि से हुए जलजमाव में डूबी जनता बेसब्री से खोज रही है लेकिन उनका कहीं पता नहीं ।जमीन के नीचे चले गए या आसमान में उड़ गए ।

जी हाँ , वो आसमान में उड़ गए , जब पटना जल में तैर रहा था वो आसमान में उड़ रहे थे । जल जमाव के ठीक दो दिन बाद पटना के कमिश्नर आनंद किशोर हवाई जहाज में बैठ कर सिडनी(आस्ट्रेलिया) चले गए । आनंद किशोर मुख्यमंत्री के चहेते रहे है ,यही कारण है कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष रहते हुए पटना कमिश्नर का अतिरिक्त भार दे दिया गया । विदित हो कि आनंद किशोर पटना स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के बॉस भी हैं ।

जल संकट से त्राहिमाम कर रहे पटना को बिलबिलाता  छोड़ आनंद किशोर 29 सितम्बर को पटना को स्मार्ट सिटी बनाने की कला सीखने सरकारी खर्चे पर सिडनी चले   गए । जिस पटना में सुशासन का सपना दिखा कर सत्ता में आई नीतीश सरकार 14 साल बाद भी ड्रेनेज सिस्टम सही न कर पाई ।  आपदा की घड़ी में  राहत कार्य करने की तकनीक और मानसिकता विकसित न कर पाई , उस सरकार ने शहर को स्मार्ट सिटी बनाने की तकनीक सीखने अपने दुलरुआ को सिडनी भेज कर सिर्फ जनता का पैसा  ही बर्बाद कर रही है ।

पटना की सड़कों पर ताबड़तोड़ गाड़ियाँ पकड़ गाड़ीवानों के हृदय के एक्सीलेरेटर को धरधड़ा देने वाले कमिश्नर आनंद किशोर को जनता ढूंढ रही है । जनता  सवाल पूछ रही है , खोज रही है  , क्या वे सिर्फ अतिक्रमण हटाने और गाड़ी पकड़ने के लिए कमिश्नर है ।चारों तरफ से आवाजें  उठने लगी है – डूबे पटना के कमिश्नर कहाँ है , जहाँ भी दिखे पकड़ कर पानी मे लाओ ।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *