Sat. Oct 31st, 2020

चुनावी हिंसा के मद्देनजर बिहार के सभी जिलों के लिए अलर्ट जारी

लोकसभा चुनाव के वोटों की गिनती 23 मई गुरुवार को होगी। इससे पहले चुनावी हिंसा के मद्देनजर बिहार के सभी जिलों के लिए अलर्ट जारी किया गया है। सभी जिलों के एसपी के लिए ये आदेश जारी किया गया है। काउंटिंग स्थल पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं और वोटों की गिनती की तैयारी भी पूरी कर ली गई है।

पटना साहिब और पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र की मतगणना 23 मई की सुबह 8 बजे से पटना के एएन काॅलेज में होगी। 9 बजे से रुझान मिलना शुरू हाे जाएगा। अंतिम परिणाम के लिए देर शाम तक इंतजार करना पड़ेगा। इसकी तैयारी जिला प्रशासन ने पूरी कर ली है।

एएन काॅलेज में विधानसभावार मतगणना हाॅल बनाया गया है। सभी हाॅल में 14 टेबल लगाए गए हैं। हर टेबल पर एक-एक ईवीएम को रखा जाएगा। यानी 14 बूथाें की ईवीएम की गिनती एक साथ होगी।

जिला निर्वाची पदाधिकारी सह डीएम कुमार रवि ने कहा कि प्रत्येक राउंड की मतगणना समाप्त होने के बाद सहायक निर्वाची पदाधिकारी माइक पर घोषित करेंगे कि कौन प्रत्याशी कितने मत से आगे और कौन प्रत्याशी कितने मत से पीछे है।

उन्होंने कहा कि अगर किसी तकनीकी गड़बड़ी के कारण किसी ईवीएम के मताें की गिनती नहीं हो पा रही है, ताे उसे बाॅक्स में डालकर निर्वाची पदाधिकारी की अभिरक्षा में मतगणना हाॅल में रखा जाएगा। मतगणना का कार्य समाप्त होने के बाद ऐसी खराब ईवीएम के वीवीपैट पर्ची की गिनती होगी। चुनाव आयोग की धारा 56डी के तहत खराब मशीनों के वीवीपैट की पर्ची की गिनती करने का प्रावधान है।

चुनाव आयाेग के सामान्य प्रेक्षक रतन यू केलकर और सुशील कुमार पटेल की अध्यक्षता में मंगलवार को समाहरणालय सभाकक्ष में मतगणना पदाधिकारियाें और कर्मी काे प्रशिक्षण दिया गया। डीएम ने कहा कि हर टेबल पर चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों द्वारा प्रतिनियुक्त मतगणना अभिकर्ता माैजूद रहेंगे। उनकी उपस्थिति में ईवीएम का सील खाेला जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *