Thu. Aug 18th, 2022

देश की शान बन पंच तत्व में विलीन हुए शहीद कर्नल आशुतोष और मेजर सूद

जयपुर                                  शनिवार को कश्मीर के हंदवाड़ा में आतंकियों के एनकाउंटर में 21 राष्ट्रीय राइफल्स के कमांडिंग अफसर कर्नल आशुतोष शर्मा, मेजर अनुज सूद समेत पांच जवानशहीद हो गए थे। मंगलवार को कर्नल शर्मा का जयपुर में और मेजर सूद का पंचकूला में सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।कर्नल आशुतोष को सबसे पहले सैन्य अधिकारी ने श्रद्धांजलि दी और उसके बाद इनका अंतिम संस्कार किया गया।
कर्नल आशुतोष की पत्नी पल्लवी और बेटी तमन्ना ने सभी रस्म क्रियाओं में भाग लिया और नम आंखों से इन्हें विदा किया। वहीं कर्नल आशुतोष को मुखाग्नि उनके भाई और पत्नी पल्लवी ने एक साथ मिलकर दी।
शहीद कर्नल आशुतोष शर्मा 21 राष्ट्रीय राइफल्स के कमांडिंग अफसर थे। सोमवार को  श्रीनगर से उनके पार्थिव शरीर को जयुपर लाया गया , जहाँ  मंगलवार सुबह आर्मी कैंपस में अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। सैन्य सम्मान के साथ उन्हें अंतिम विदाई दी गई।शहीद कर्नल के सम्मान और उनकी वीरता को नमन करने के लिए पार्थिव शरीर के साथ आर्मी बैंड भी मोक्षधाम पहुंचा।  राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और भाजपा सांसद राज्यवर्धन सिंह भी उपस्थित रहे । मोक्ष धाम में अंतिम संस्कार के पूर्व उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।कर्नल की पत्नी पल्ल्वी और बेटी तमन्ना भी शहीद को अंतिम विदाई देने के लिए मोक्षधाम पहुंची। मोक्षधाम में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। कर्नल की पत्नी को पार्थिव देह पर लिपटा तिरंगा दिया गया तो वो भावुक हो गईं। कर्नल की पत्नी पल्ल्वी अंतिम संस्कार के दौरान तिरंगे को अपने सीने से लगाए रहीं। कर्नल आशुतोष के अंतिम संस्कार की क्रिया करने से पहले उनके बड़े भाई पीयूष ने मां के पैर छूए। कर्नल के बड़े भाई पीयूष के साथ ही शहीद की पत्नी पल्लवी ने भी मुखाग्नि दी।
 पंचकूला में मेजर अनुज सूद को उनके रिटायर्ड ब्रिगेडियर पिता ने सीने पर मेडल लगाकर मुखाग्नि दी 

पंचकुला में शहीद मेजर अनुज सूद का अंतिम संस्कार भी मंगलवार को किया गया ।शहीद मेजर का पार्थिव शरीर मंगलवार सुबह आर्मी हॉस्पिटल से अमरावती एनक्लेव स्थित उनके निवास पर पहुंचा था। जिसके बाद मेजर को श्रद्धासुमन अर्पित करके श्रद्धांजलि दी गई।शहीद मेजर अनुज सूद का अंतिम संस्कार इनके पिता ने किया ।शहीद मेजर अनुज सूद के पिता ब्रिगेडियर के पद से सेवानिवृत्त हुए हैं और  मेजर अनुज सूद की छोटी बहन भी आर्मी में ही जो कि कैप्टन के पद पर अपनी सेवाएं दे रही हैं।

अनुज सूद के पिता रिटायर्ड ब्रिगेडियर सीके सूद ने सिविल ड्रेस में हीअपने सीने पर मेडल लगाकर बेटे को अंतिम विदाई दी।मेजर अनुज सूद की पत्नी आकृति ने कहा कि उन्हें अपने पति की शहादत पर गर्व है और वे हमेशा मेरे साथ रहेंगे। जबकि पिता सीके सूद ने कहा कि अनुज ने मेरा सिर गर्व से ऊंचा कर दिया है, बेटा तुझे सलाम । शहीद मेजर का पार्थिव शरीर मंगलवार सुबह अमरावती एनक्लेव स्थित उनके निवास पर पहुंचा था।शहीद मेजर सूद की देह से लिपटा तिरंगा हाथ में आते ही भावुक हुई पत्नी आकृति। सिर झुकाकर तिरंगे को सलाम किया।

 

जिसके बाद अन्य लोगों ने मेजर को श्रद्धासुमन अर्पित करके श्रद्धांजलि दी । यहां से इनका शरीर अंतिम संस्कार के लिए ले जाया गया। शहीद मेजर अनुज सूद के पिता ब्रिगेडियर के पद से सेवानिवृत्त हुए हैं और  मेजर अनुज सूद की छोटी बहन भी आर्मी में ही जो कि कैप्टन के पद पर अपनी सेवाएं दे रही हैं।सोमवार सुबहशहीद मेजर सूद की पार्थिव देह को आर्मी हॉस्पिटल से पंचकूला स्थित उनकेघर लाया गया। पिता सी के सूद सिविल ड्रेस में अपने सीने पर मेडल लगाए अपने बेटे की शहादत पर तन कर खड़े थे । नम आंखों से उन्होंने बेटे को मुखाग्नि दी।मेजर सूद मूलत: हिमाचल के रहने वाले थे। हालांकि, काफी सालों पहले उनका परिवार पंचकूला शिफ्ट हो गया था।मेजर सूद की शादी 2017 में हुई थी।




News mandi desk :-


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *