Mon. Jun 27th, 2022

पत्नी के 6 टुकड़े कर नेपाल भागने की फिराक में था पति, बिजली बिल ने खोल दी पोल

बाराबंकी :- उत्तर प्रदेश के बाराबांकी  में लखनऊ-अयोध्या हाईवे पर कोतवाली नगर क्षेत्र में सफेदाबाद स्थित केवाड़ी मोड़ के पास ट्रॉली बैग में छह टुकड़ों में एक महिला का शव मिला था। तहकीकात में पुलिस के पास कातिल तक पहुंचने का एक अहम सुराग था बिजली का बिल , जो उस बैग से मिला था। बिल काफी पुराना था और और उसपर छपे अक्षर धुंधले हो चुके थे ।पुलिस ने इसी के आधार पर पड़ताल शुरू की। बिजली बिल एक महिला के नाम पर था , पुलिस जब महिला के पते पर पहुुँची तो उसने बताया कि वह मकान उसने समीर नाम के शख्श को बेच दिया है। पुलिस ने समीर का नंंबर लेकर मोबाइल डिटेल निकाली तो लाश की जगह पर उसकी लोकेशन की पुष्टि हुई। हत्या के बाद से समीर मोबाइल बंद आ रहा था।पुलिस ने सर्विलांस सेल की मदद से आरोपी का नया नंबर निकाला। पुलिस की टीम समीर की तलाश में लग गई। मोबाइल नम्बर को सर्विलांस पर डाल उसे ट्रेस कर लिया गया । लखनऊ के इंदिरानगर थाना क्षेत्र से पुलिस ने समीर को गिरफ्तार कर लिया। वह नेेेपाल भागने की कोशिश में था।

 

बैग में छह टुकड़ों मिली महिला समीर की पत्नी आयशा थी ,जो मुंबई के अंबेडकरनगर-टाटा-वसहत मार्ग भारतनगर निवासी बादशाह शेख की पुत्री थी। लखनऊ के इंदिरा नगर के सेक्टर-14 में रहती थी। महराजगंज थानाक्षेत्र के गुलरिहा का रहने वाला समीर मुंबई के बांद्रा क्षेत्र में एक चिकन शॉप में काम करता था। लॉकडाउन के दौरान मार्च में लखनऊ लौटा था। समीर को आयशा से हमेशा अनबन होती रहती थी। 5 जुलाई को हुए आपसी झगड़े में समीर खान ने लोहे की रॉड से मारकर आयशा की हत्या कर दी।हत्या के बाद बाजार से चापड़ लाया और शव के छह टुकड़े कर ब्रीफकेस और बैग में भरकर कार से ले जाकर हाईवे पर फेंक दिया था।हत्या के इस केस में पुलिस की सूझबूझ और सक्रियता से आरोपी पति पुलिस की गिरफ्त में था। एसपी ने राजफाश करने वाली टीम को 25 हजार रुपये का पुरस्कार दिया।




News mandi desk


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *