Sat. Oct 31st, 2020

बिहार को मिला 25 एकड़ में फैला अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त अंतरराज्यीय बस अड्डा

बिहार को मिला 25 एकड़ में निर्मित पहला अंतरराज्यीय बस अड्डा । आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इसका उद्घाटन करेंगे। बुडको द्वारा बनाया गया यह बस डिपो सभी अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है…

 

बिहार                                        

महानगरों की तर्ज पर राजधानी पटना में भी अंतर्राज्यीय बस अड्डा (Inter state bus terminal) जीरोमाइल से आधा किलोमीटर दूर पटना-गया रोड पर रामाचक बैरिया में बनकर तैयार है ।आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इसका उद्घाटन करेंगे।दस मंजिला बस अड्डा अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है। यह बिहार का सबसे बड़ा और अत्याधुनिक बस टर्मिनल होगा। यहां से 3 हजार बसों का परिचालन रोजाना होगा।हर दिन डेढ़ लाख यात्री यात्रा कर सकेंगे विभिन्न क्षेत्रों से आने वाले बसों के लिए अलग टर्मिनल के साथ ही यात्री सुविधाओं का भी विशेष इंतजाम किया गया है। 

 

इस बस स्टैंड में यात्रियों की सुविधा के लिए चार ब्लॉक बनाए गए है । जिसमें ए, बी और सी ब्लॉक तैयार है और D ब्लॉक का काम चल रहा है।  ब्लॉक A में बसों का आगमन , ब्लॉक B से बसों का प्रस्थान  होगा , जबकि ब्लॉक C दोनों A और को जोड़ने का काम करेगा । ब्लॉक D में व्यावसायिक गतिविधियां होगी । 339 करोड़ 22 लाख की लागत से तैयार होने वाले इस बस अड्डे में सिनेमा घर, मॉल से लेकर शॉपिंग कॉम्पलेक्स तक की सुविधा है. यात्रियों के ठहरने और आराम करने के लिए अत्याधुनिक वेटिंग रूम और स्नानागार भी बनाए गए हैं। यात्रियों के टिकट के लिए पर्याय संख्या में टिकट काउंटर बनाये गए है।बुजुर्गों और बच्चो के लिए एस्कलेटर की सुविधा दी गई है. पर्याप्त संख्या में महिला और पुरुषों के लिए मॉडर्न शौचालय का निर्माण किया गया है. जो लोग छोटी कार से यहां पहुचेंगे उनके लिए एलिवेटेड रोड बनाया गया है. यहां पर ड्राइवर और  बस स्टाफ के लिए डोमेट्री की व्यवस्था की गई है।

इस बस अड्डे के संचालन के लिए आईएसबीटी पटना सोसाइटी नियम एवं विनियम को भी नीतीश केबिनेट से मंजूरी मिल चुकी है।  Inter state bus terminal का बेहतर और व्यवस्थित ढंग से संचालन अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल सोसाइटी, पटना करेगी। सोसाइटी एक्ट के तहत इस सोसाइटी पर पूर्ण प्रशासनिक नियंत्रण राज्य सरकार का रहेगा। इसका कार्यालय विकास भवन स्थित नगर विकास एवं आवास विभाग होगा। सोसाइटी निकाय आईएसबीटी के रखरखाव, बसों के परिचालन, वाणिज्यिक परिसर में दुकानों के आवंटन सहित सारे काम देखेगी।

 बस टर्मिनल आरंभ होने के बाद पटना में बसों का प्रवेश बंद हो जाएगा। सभी बसें इसी टर्मिनल से खुलेंगी। शहर के लोग सरकारी सिटी बस से यहाँ तक आएँगे। इसी तरह बस टर्मिनल पर राज्य के विभिन्न जिलों और दूसरे राज्यों से आने वाले यात्री सिटी बस से ही शहर में आएंगे। बस अड्डा पहुँचे यात्रियों को जरुरत का सारा सामान यहीं मिल जाएगा, 10 मंजिला बन रहे डी ब्लॉक में यात्री सिनेमा देख सकेंगे साथ ही कैफेटेरिया, रेस्ट हाउस, फुड कोर्ट, होटल, रेस्टोरेंट का भी मजा ले सकेंगे।




News mandi desk


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *