Sun. Apr 11th, 2021

बिहार में अब जमीन की रजिस्ट्री के साथ ही म्यूटेशन भी हो जाएगा ,नई व्यवस्था 31 मार्च से लागू

बिहार                                    

पटना : बिहार में अब जमीन रजिस्ट्री के साथ ही  म्यूटेशन की प्रक्रिया भी शुरू हो जाएगी । जमीन खरीद-बिक्री की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए सरकार ने फैसला लिया है कि किसी भी प्लॉट की रजिस्ट्री होते ही दाखिल खारिज की प्रक्रिया स्वतः शुरू हो जाएगी।इसके लिए  जमीन मालिक को ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करने की आवश्यकता नहीं होगी।नई व्यवस्था का लाभ लेने के लिए जमीन की रजिस्ट्री के समय ही एक प्रपत्र भरकर निबंधन कार्यालय में जमा करना होगा। साथ ही स्वत: म्यूटेशन की सहमति भी देनी होगी। प्रपत्र में जमीन का पूरा ब्योरा के साथ जिनके नाम जमाबंदी कायम है उसका भी पूरा विवरण देना होगा। म्यूटेशन के साथ ही रजिस्टर टू से भी पुराने जमीन मालिक का नाम हट जाएगा और नये खरीदार का नाम जुड़ जाएगा। जमीन की रजिस्ट्री होते ही पूरा रिकार्ड स्वत: अंचलाधिकारी के पास चला जाएगा।फिलहाल इस नई व्यवस्था का लाभ उन्हीं खरीदारों को मिलेगा जो जमाबंदीदार से जमीन खरीदेंगे ,इसके अलावे यदि जमीन खरीददार  किसी ऐसे वारिस से जमीन खरीदेंगे जिनके नाम म्यूटेशन नहीं है तो पुरानी व्यवस्था से ही आवेदन करना होगा , इसके लिए अंचल कार्यालय को निबंधन कार्यालय से जोड़ दिया गया है। सॉफ्टवेयर भी तैयार हो गया है। । किसी भूखंड का छोटा भाग बिकता है तो बेची गई संपत्ति के भाग से नया नाम जुड़ेगा। शेष भूमि पुराने मालिक के नाम ही रहेगा। पूरी व्यवस्था के लिए एक एप तैयार किया गया है। एप के माध्यम से निबंधित कागजात का पीडीएफ अंचल कार्यालय तक पहुंच जाएगा। नई व्यवस्था की शुरुआत 31 मार्च को विभाग के मंत्री रामसूरत कुमार करेंगे ।




News mandi bihar desk


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *