Sat. Jan 23rd, 2021

भारत मे कोरोना से जंग के लिए दो वैक्सीन को मंजूरी , प्रधानमंत्री ने वैज्ञानिकों को बधाई दी

नई दिल्ली                               

पूरी दुनिया मे महामारी के रूप में तबाही मचाने वाले कोरोना वायरस के टीके पर दुनिया के कई देश लगे हैं। भारत मे भी चार वैक्सीन पर काम चल रहा है ,जिसमे दो परीक्षण में सफल होकर उपयोग के लिए तैयार है।डीसीजीआई देश में किसी भी दवा, ड्रग या वैक्सीन के इस्तेमाल को अंतिम मंजूरी देता है , इस लिहाज से भारत में रविवार को ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन ‘कोविशील्ड’ और भारत बायोटेक की ‘कोवैक्सीन’ को इमरजेंसी यूज ऑथोराइजेशन (EUA) दिए जाने का ऐलान किया है।कोवैक्सीन’ को हैदराबाद की भारत बायोटेक ने ICMR और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के साथ मिलकर बनाया है. ये भारत की पहली स्वदेशी वैक्सीन है। डीसीजीआई किसी भी वैक्सीन पर किये गये परीक्षण के आंकड़ों का कड़ाई से अध्ययन करता है. अध्ययन के बाद जो रिपोर्ट तैयार होती है, उससे संतुष्ट होने के बाद ही डीसीजीआई अपनी अनुमति देता है। अनुमति के बाद भी कई प्रक्रियाएं होती हैं. उनके पूरा होने के बाद ही देश में टीकाकरण शुरू हो पायेगा।डीसीजीआई ने कहा है कि दोनों वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित हैं । टीकाकरण के दौरान इन वैक्‍सीन की दो-दो डोज दी जायेंगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैक्सीन के इस्तेमाल की मंजूरी के बाद वैज्ञानिकों को बधाई दी है। कोविशील्ड’ को ऑक्सफॉर्ड यूनिवर्सिटी और ब्रिटेन की फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेका ने मिलकर बनाया है. पुणे का सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) इसका मैन्युफैक्चरिंग पार्टनर है। ये वेक्टर वायरल टेक्नोलॉजी पर आधारित वैक्सीन है. इसे एडिनोवायरस से बनाया गया है, जो सामान्य सर्दी-खांसी जैसे लक्षण पैदा करता है. ये वैक्सीन शरीर में इम्यून प्रतिक्रिया शुरू करती है और कोरोना वायरस से लड़ने के लिए एंटीबॉडीज बनती हैं।भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट ने वैक्सीन की कीमतों को लेकर आधिकारिक रूप से कोई जानकारी नहीं दी है. सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ अदार पूनावाला ने पहले कहा था कि कोविशील्ड (Covishield) की कीमत लगभग 400 रुपये होने की संभावना है, जबकि कोवैक्सीन (Covaxin) की कीमत 100 रुपये से कम हो सकती है. हालांकि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका मुफ्त में मिलेगा ।



News mandi desk


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *