Sun. Apr 11th, 2021

रूपेश सिंह हत्याकांड के खुलासे के बाद परिजनों से मिले एस.एस.पी

बिहार                            

पटना : 12 जनवरी को इंडिगो के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह हत्याकांड में खुलासा करते हुए पटना पुलिस ने आरोपी  ऋतुराज को मीडिया के सामने पेश करते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस में हत्या के कारण और जांच का पूरा ब्यौरा दिया । हत्या की जांच बड़े लेवल से शुरू हुई , ठेकेदारी विवाद से लेकर तम्माम सम्बंधित बिंदुओं पर जांच चली और अंततः ऋतुराज की गिरफ्तारी के बाद पटना के एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा ने इसे रोड रेज  में हुई हत्या बताया। पुलिस केे खुलासे और आरोपित की गिरफ्तारी के बाद भी लोगों को पुलिस की यह थ्योरी गले नहीं उतरी। 

पटना ,एसएसपी ,उपेंद्र शर्मा

रूपेश के परिवारजनों ने भी इस बात को खारिज करते हुए कहा कि किसी को बचाने की साजिश हो रही है। पुलिस  पड़ताल से स्वजनों के असहमति जताने के बाद  एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा शुक्रवार को छपरा पहुंचे। उन्होंने रूपेश की पत्नी नीतू को सभी अपराधियों की शीघ्र गिरफ्तारी का भरोसा दिया। एसएसपी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि केस के सम्बंध में रूपेश के परिजनों को अवगत कराने आए थे , उन्होंने कहा कि जिसे हमने पकड़ा है ,गोली उसी ने मारी थी ,सारी जांच का मैं हिस्सा रहा हूँ , हमने इस संवेदनशील मामले की जांच में काफी मेहनत की है। रूपेश के बड़े भाई नंदेश्वर सिंह व पिता शिवजी सिंह ने कहा कि सभी आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद ही पूरे कांड का पता चलेगा। एसएसपी ने इसका भरोसा दिया है। अगर सब कुछ साफ नहीं हुआ तो हम सीएम से मिलेंगे।

मुख्य आरोपित ऋतुराज                                                     गौरतलब है कि 12 जनवरी को पटना में रूपेश सिंह की हत्या कर दी गई थी. वह एयरपोर्ट से घर लौट रहे थे. हमलावरों ने उनपर कई राउंड गोली दागी थी. इस हत्याकांड की जांच के लिए नीतीश सरकार ने स्पेशल टास्क फोर्स (एसआईटी) का गठन किया था. एसआईटी ने कई विभागों में जाकर पूछताछ भी की थी।पटना में इंडिगो एयरलाइन्स के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह हत्याकांड का बिहार पुलिस ने खुलासा किया है. पुलिस की माने तो रोडरेज के कारण रूपेश की हत्या हुई थी. नवंबर में पटना स्थित एलजेपी कार्यालय के पास रोडरेज की घटना हुई थी।आरोपी ऋतुराज ने कहा कि रूपेश कुमार सिंह के साथ एक दुर्घटना हुई थी, जिसके बाद उन्होंने (रूपेश सिंह) मुझे 29 नवंबर को बहुत पीटा था. इससे मैं गुस्से में था और मार डाला. मैं लगभग डेढ़ महीने से रूपेश कुमार सिंह को मारने की कोशिश कर रहा था. मैंने रूपेश कुमार सिंह को मार दिया. मैंने रूपेश पर 4 से 5 राउंड फायर किए।



 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *