Mon. Jun 27th, 2022

सिंगल यूज प्लास्टिक आज से भारत मे बैन , उपयोग करने पर लगेगा भारी जुर्माना

भारत मे 60 के दशक में आये प्लास्टिक का उपयोग आज चरम पर है ।सिंगल यूज प्लास्टिक के खतरे से पूरा विश्व चिंतित है यह पर्यावरण को तेजी से नुकसान पहुंचा रहा है ।


प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने सिंगल यूज प्लास्टिक से बढ़ रहे खतरे के प्रति लोगों को आगाह करते हुए लालकिले से घोषणा की थी कि भारत 2022 तक सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त हो जायेगा । इसी कड़ी में उन्होंने प्रतिबंध के लिए 2 अक्टूबर का दिन सुनिश्चित किया था। आज से सिंगल यूज प्लास्टिक पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दी गई है । पर्यावरण को संरक्षित करने के लिए अब प्लास्टिक से तैयार प्रोडक्ट जैसे: चाय कप , पानी की बोतल,कोल्ड ड्रिंक की बोतल , स्ट्रॉ , सामान पैक करने वाली पतली पन्नी आदि पर पूर्णतया रोक लगा दी गई है । सिंगल यूज प्लास्टिक को रिसाइकिल भी नहीं किया जा सकता है ,इसलिए इससे सिर्फ नुकसान ही है ।

जानें क्या है सिंगल यूज प्लास्टिक


पूरी दुनिया मे पर्यावरण को खरनाक स्तर तक नुकसान पहुँच चुका है ।प्लास्टिक और पॉलीथिन के उपयोग ने वातावरण को भारी मात्रा में नुकसान पहुंचाया है ,जिससे मानव असाध्य बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं । प्लास्टिक का अविष्कार लियो बैकलैंड ने किया था ।इन्होंने 43 साल की उम्र में फिनॉल और फॉर्मल डिहाइड नामक रसायनों पर प्रयोग के दौरान एक नए पदार्थ की खोज की । इन्हीं प्रयोगों के दौरान उन्होंने काम लागत वाला कृत्रिम रेसिन बनाया ,जो दुनिया भर में प्लास्टिक के नाम से जाना गया । सिंगल यूज प्लास्टिक वह है जिसका इस्तेमाल एक बार ही होता है ,जैसे खाद्य सामानों की पैकिंग , पानी की बोतल आदि ऐसी प्लास्टिक एक बार इस्तेमाल के बाद कचरा बन जाती है । ये नष्ट भी नहीं होता और जलाने पर हानिकारक गैस निकलती है ।इसे रिसाइकिल भी नहीं किया जा सकता ।


News Mandi ,Central Desk:-


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *