Sat. May 21st, 2022

सोशल डिस्टेंसिंग में नीतीश कुमार सभा कर सकते है ,लोजपा नहीं ..कोरोना और बाढ़ से जनता को राहत दें ,चुनाव की न सोचें

बिहार                                     

पटना: कोविड 19 की आपदा ने बिहार को दबोच रखा है , बाढ़ की विभीषिका से भी बिहार तबाह है।सरकारी स्तर पर बरती जा रही लापरवाही और सुविधाओं का अभाव जन आक्रोश भी उतपन्न कर रहा । ऐसे में बिहार विधानसभा चुनाव का समय भी नजदीक है। सत्तारूढ़ दल किसी भी कीमत पर चुनाव कराने को आमादा हैं।चुनाव आयोग  ने कहा है कि वह राजनीतिक दलों के सुझावों के आधार पर जल्दी ही विस्तृत गाइडलाइन जारी करेगा, जिससे कोरोनाकाल में सुरक्षित चुनाव करवाया जा सके।

चुनाव के दौरान सभी पार्टियों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सभा करने की छूट दी गई है ,जिस पर लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान खासे गर्म हैं ,उन्होंने दो टूक कहा दिया है – सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर केवल नीतीश कुमार की सभा हो सकती है, लोजपा की नहीं।चिराग ने कहा कि लोजपा की सभाओं में भीड़ उमड़ती है ऐसी स्थिति में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ चुनावी बैठक करना कैसे सम्भव होगा। लोजपा सहित बिहार के कई दलों ने कोरोना संकट को देखते हुए विधानसभा चुनाव न कराने की सलाह निर्वाचन आयोग को दी है।मंगलवार को चुनाव आयोग में बैठक हुई, जिसमें आयोग ने राजनीतिक दलों की ओर से भेजे गए सुझावों पर विचार किया। साथ ही राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य चुनाव अधिकारियों की ओर से भेजे गए सुझावों पर भी विचार किया गया। लोजपा बिहार में विधानसभा चुनाव कराने के पक्ष में नहीं है , पार्टी का कहना है कि पहले कोरोना और बाढ़ से त्रस्त जनता को राहत दी जाए और इस आपदा से निकाला जाए।



News mandi desk


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *