Fri. Oct 7th, 2022

70 मिनट में 21 धमाके ,दहल उठा था अहमदाबाद ….अब इस केस में 38 को फाँसी की सज़ा

नई दिल्ली

अहमदाबाद में जुलाई 2008 में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों के 49 दोषियों में से 38 को अदालत ने फांसी की सजा सुनाई है.11 को आजीवन कारावास की सजा,8 फरवरी को स्पेशल कोर्ट ने इन सभी को दोषी करार दिया था. जबकि 28 आरोपियों को बरी कर दिया था. इस मामले में स्पेशल कोर्ट में 13 साल से सुनवाई चल रही थी…

 26 जुलाई 2008 को गुजरात के अहमदाबाद शहर में 70 मिनट के भीतर एक के बाद एक करके 21 बम धमाके हुए थे इसमें 56 लोग मारे गए थे जबकि 200 से ज़्यादा लोग घायल हुए थे।

 धमाकों की ज़िम्मेदारी इंडियन मुजाहिद्दीन और हरकत-उल-जिहाद-अल-इस्लामी नाम के चरमपंथी संगठनों ने ली थी. धमाकों के फ़ौरन बाद गुजरात के सुरेंद्रनगर ज़िले से तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया जिनमे हुसैन इब्राहीम, हासिल मोहम्मद और अब्दुल क़ादिर शामिल हैं. गुजरात एटीएस यानी आतंकवाद निरोधी दस्ते ने धमाकों के संदिग्ध मुफ़्ती अबू बशीर के साथ नौ लोगों को गिरफ्तार किया. इसके  लगभग आठ सालों के बाद 2016 में धमाकों के एक और अभियुक्त, नासिर रंगरेज को भी पकड़ा गया था। इन धमाकों के सिलसिले में दायर की गई चार्जशीट में सिमी के मुफ़्ती बशर, सफ़दर मंसूरी और सफ़दर नागोरी के अलावा 50 और लोगों को अभियुक्त बनाया गया था ।

इतिहास में ये पहली बार है जब एक साथ इतने सारे दोषियों को फांसी की सजा सुनाई गई है. दोषियों की वर्चुअली पेशी हुई थी और जब कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई तब दोषी अलग-अलग जेल में बैठे हुए थे।




फोटो- (India today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *