Thu. Aug 18th, 2022

LAC पर सेना को जवाबी कार्रवाई की पूरी छूट , चीन के छक्के छुड़ाने के लिए भारतीय फौज तैयार ..

लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों की धोखेबाजी से 20 भारतीय जवानों के शहीद होने के बाद भारत ने सीमा पर चौकसी बढ़ाते हुए वायु सेना को भी अलर्ट मोड पर रख दिया है।अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती के साथ ही किसी भी स्थिति में चीन के छक्के छुड़ाने के लिए भारतीय फौज तैयार है ..

 New Delhi                                    

15 जून को चीन के साथ हिंसक झड़प में भारत के 20 सैनिकों के शहीद होने के बाद भारत ने एल. ए. सी पर सेना को जवाबी कार्रवाई की पूरी छूट दे दी है।गलवान घाटी मे 45 वर्षों में सीमा पर संघर्ष की यह सबसे बड़ी घटना है और इससे दोनो देशों के बीच युद्ध की स्थिति बनी हुुई है। पूर्व में दोनों देशों की सेनाओं के बीच यह तय था कि सीमा पर टकराव के बीच हथियारों का इस्तेमाल नहीं करेंगे , लेकिन चीन ने भारतीय सैनिकों के साथ हुई झड़प में लोहे के कील लगे रॉड का इस्तेमाल किया और 20 सैनिकों की जान ले ली। इस घटना के बाद सरकार ने सेना के कमांडरों को विशेष परिस्थिति में हथियारों की अनुमति दे दी है। लद्दाख के गलवान सहित चीन से लगती सीमा पर फाइटर प्लेन के द्वारा लगातार नजर रखी जा रही है।सरकार ने सेना के तीनों अंगों को सीमा पर चीन के साथ तनाव के मद्देनजर हथियार एवं गोला-बारूद खरीदने के लिए प्रति खरीद 500 करोड़ रुपये तक की अतिरिक्त सहायता वित्तीय शक्तियां भी प्रदान कर दी हैं।रक्षा मंत्री ने  प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत, थलसेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे, नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह और वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आर के एस भदौरिया के साथ बैठक की और पूर्वी लद्दाख, अरुणाचल प्रदेश , सिक्किम , उत्तराखंड , हिमाचल प्रदेश में एलएसी पर सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की।




News mandi desk


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *